मनोरंजन

सोहा अली खान ने किया लेखिका दीपा रजानी की पहली पुस्तक ‘द मैजिक इन यू – अवेकन योर सोल’ का विमोचन!

जगदीश काशिकर, मुंबई प्रतिनिधि : एक आंत्रप्योनर, एक हेल्थ कोच और दो ख़ूबसूरत बेटियों की मां दीपा रजानी लोगों को अपने भीतर छिपी शक्ति और ख़ूबियों को समझाने की लिए तैयार हैं। लोगों को अपने भीतर छिपी तमाम ख़ूबियों और ताक़त को पहचानने में मदद करने के लिए ‘द मैजिक इन यू – अवेकन योर सोल’ नामक किताब लिखी है जो एक लेखिका के तौर पर उनकी पहली किताब है। उल्लेखनीय है कि इस पुस्तक का विमोचन जानी-मानी अभिनेत्री सोहा अली खान ने मुम्बई में आयोजित एक समारोह में किया।

लोग हमेशा से ही मस्तिष्क में निहित अद्भुत शक्तियों और उनके द्वारा अकल्पनीय कार्यों को करने की ताक़त के बारे में बात करते रहे हैं। लेखिका दीपा रजानी की पहली किताब ‘द मैजिक इन यू – अवेकन योर सोल’ भी इंसानों के अंदर निहित ऐसी ही शक्ति के बारे में बात करती है। इस किताब का विमोचन मुम्बई के जुहू स्थित एस्टेला में गुरुवार को किया गया। इस विमोचन समारोह में सोहा अली खान ख़ास मेहमान के तौर पर मौजूद थीं जिन्होंने इस मौके पर कहा कि अब वक्त आ गया है कि लोग ख़ुद में निवेश करना शुरू करें और ख़ुद के विकास पर ध्यान केंद्रित करें। उन्होंने कहा कि दीपा की यह किताब इसी तरह की तमाम जानकारियों और प्रेरणाओं का ख़ज़ाना है।

कुछ लोग मानते हैं कि हमारी नियती पहले से ही तय होती है और हमारा मुकद्दर बदला नहीं जा सकता है। लेकिन अपने ही हाथों अपनी ज़िंदगी बदलना संभव है। इस पुस्तक में यही दर्शाने की कोशिश की गयी है कि किस तरह से आप अपने अंदर छिपी ताक़त का पूरी क्षमता के साथ उपयोग कर सकते हैं और इससे ज़रिए मनचाहे तरीके से अपनी ज़िंदगी को आकार दे सकते हैं।

एक सर्टिफ़ाइड हेल्थ कोच और दो बेटियों की मां दीपा रजानी ने इस मौके पर हंसते हुए कहा, “यह किताब आपकी सभी समस्याओं का हल प्रस्तुत नहीं करती है मगर यह किताब आपके अंदर छिपी अकूत शक्ति को जागृत करने का काम करेगी। यह आपको ख़ुद पर विश्वास करने और कामयाबी के लिए अपनी राह ख़ुद बनाने में मदद करेगी” वे मुस्कुराते हुए कहती हैं, “हम सभी के अंदर जादुई शक्तियां छुपी हुईं होती हैं, जब मुझे इनके बारे में पता चला तो मुझे समझ आया कि इनके इस्तेमाल से मैं अपने जीवन में अकल्पनीय किस्म के बदलाव ला सकती हूं, मैं ख़ुद को हील कर सकती हूं और साथ ही अपने सपनों को भी साकार कर सकती हूँ।

जब तक कि हम इन अंदरूनी शक्तियों का इस्तेमाल करना सीख नहीं जाते, तब तक ये शक्तियां हमारे अंदर यूं ही छिपी रहती हैं। हम ज़िंदगी में गणित, विज्ञान, इतिहास, भूगोल आदि कई सारे विषयों के बारे में पढ़ते व सीखते हैं मगर हमें कभी यह नहीं सिखाया जाता है कि आख़िर हम इस ज़िंदगी को किस तरह से जिएं। मेरे लिए L.I.F.E. का मतलब ‘लाइफ इज़ फुल्ली एम्पावर्ड’ है”

दीपा‌ ने‌ कहा, “जब मुझे इस बात का एहसास हुआ कि हमारे अंदर दिव्य व अनंत शक्ति मौजूद है और सकारात्मक ऊर्चा के माध्यम से हमारे विचारों व कर्मों से हम अपने अस्तित्व का ख़ुद ही निर्माण कर सकते हैं तो मेरे लिए वो पल बेहद अद्भुत था। मुझे ऐसा लगा मानो मेरे अंदर कोई बल्ब जल गया हो और मेरे अंदर ज्ञान की रौशनी फ़ैल गयी हो। मेरे लिए उसी वक्त सबकुछ बदल गया”

इस किताब का विमोचन‌ करते हुए अभिनेत्री सोहा अली खान ने कहा, “यह किताब पढ़ने के बाद आप सकारात्मक ऊर्जा से भर जाते हैं। मुझे यह किताब पढ़ने के बाद बहुत कुछ जानने और समझने को मिला, ख़ासकर ये कि बहुत सारे सवालों के जवाब आपके अंदर ही छिपे हुए होते हैं।

महामारी के दौरान हममें से अधिकांश लोग नकारात्मक विचारों के शिकार हो गये थे और हमारा पूरा साल यह सोचते हुआ गुज़रा की सालभर की हमारी तमाम प्लालिंग बेकार साबित हुई। ऐसे में तमाम मसलों पर बात करनेवाली ऐसी किताब का मैं स्वागत करती हूं जो स्पष्ट रूप से यह भी रेखांकित करती है कि अगर सोचे तो हम पाएंगे कि तमाम तरह की समस्याओं का हल हमारे अंदर ही है”

इस पुस्तक का प्रकाशन जैको बुक्स द्वारा किया है जो इससे पहले रॉबिन शर्मा, पॉल डूपूइस, रयूहो ओकावा, राधाकृष्णन पिल्लई और ओम स्वामी जैसे नामचीन लेखकों की किताबें प्रकाशित कर चुकी हैं। यह किताब लोगों की अंदरूनी शक्तियों को जगाने और अपनी नियती ख़ुद ही गढ़ने में कारगर सिद्ध होगी।

इस विमोचन समारोह में सोहा अली खान के अलावा अभिनेत्री सोनम अरोड़ा और फ़ैशन डिज़ाइनर रोहित वर्मा ने भी अपनी ग्लैमरस उपस्थिति दर्ज कराई।

इस पुस्तक को सुहाना भाटिया और गीता बलसारा ने मिलकर संपादित किया है। 300 पन्नों वाली इस किताब का मूल्य 399/- रुपये है जो बुकस्टोर्स के अलावा amazon.in और जैको बुक्स की वेबसाइट पर भी उपलब्ध है।

लेखिका के बारे में :
दीपा रजानी एक आंत्रप्योनर, एक हेल्थ कोच और दो ख़ूबसूरत बेटियों की मां हैं। ज़िंदगी में आने-वाले तमाम उतार-चढ़ाव का सामना करने के दौरान उन्हें अपने भीतर झांकने का मौका दिया और फिर उन्होंने किताब लिखने और वैकल्पिक हीलिंग के अपने आंतरिक हुनर को दुनिया के सामने‌ लाने के बारे में सोचा। इसी रोमांचक सफ़र के दौरान उन्होंने‌ अपनी पहली किताब ‘द मैजिक इन यू’ लिखी है

Share
Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
सर्व हक्क मुख्य संपादक यांचे कडे असून त्यांच्या परवानगी शिवाय काहीही कॉपी करू नाही.
Close
Close