Featured ताज़ा खबरें देश-विदेश महाराष्ट्र

“जिलाध्यक्ष के अधिकार सर्वोपरि है! उनका नेतृत्व ना मानने वालों को अंजाम भुगतना पड़ेगा!”- बावनकुले

मीरा भाईंदर, प्रतिनिधि: भारतीय जनता पार्टी, महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए जाने के बाद संघटनात्मक के उद्देश्य से चंद्रशेखर बावनकुले महाराष्ट्र के दौरे पर हैं। अबतक 22 जिलों का प्रवास करने बाद चंद्रशेखर बावनकुले आज मीरा भाईंदर के दौरे पर आए थे। सुबह नौ बजे से लेकर रात नौ बजे तक पूरे शहर में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेते हुए कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे!

इस अवसर पर उन्होंने मीरारोड पूर्व के जीसीसी क्लब में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों के सवालों पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि “किसी भी जिले में संगठन को मजबूत और प्रभावी बनाने के लिए वहां के जिलाध्यक्ष को सर्वोपरि अधिकार दिए गए हैं। जो लोग गुटबाजी करके संगठन को कमजोर करने का प्रयास कर रहे हैं, पार्टी उन पर नजर बनाए हुए हैं तथा समय आने पर उन्हें इसका अंजाम भुगतना होगा!”

लेकिन मीरा भाईंदर शहर में जो नगरसेवक, पूर्व पदाधिकारी, कार्यकर्ता जिलाध्यक्ष रवि व्यास के नेतृत्व को मानते नही, शहर में कई कार्यक्रम किए जाते हैं या जनसंपर्क कार्यालय खोले जाते हैं लेकिन उन कार्यक्रमों में जिलाध्यक्ष को निमंत्रण दिया नही जाता, जिलाध्यक्ष का फोटो भाजपा के होर्डिंग्स और बैनर पर नही डाले जाते इस प्रकार से जिलाध्यक्ष की अवहेलना करने वालों पर भाजपा का शीर्ष नेतृत्व क्या कार्रवाई करने जा रहा है? इस सवाल का जवाब देने से टालते हुए नज़र आ रहे थे।

इसी विषय पर पत्रकारों के लगातार सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि, पार्टी के वरिष्ठ नेता ऐसे कार्यकर्ताओं तथा पदाधिकारियों के सभी क्रिया कलापों पर नज़र बनाए हुए हैं, उसका आकलन किया जा रहा है और समय आने पर ऐसे कार्यकर्ता, पदाधिकारी और नेताओं को पार्टी द्वारा उचित जवाब दिया जाएगा!

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले के साथ युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष, मीरा भाईंदर जिलाध्यक्ष एड. रवि व्यास, विधायक गीता जैन और पूर्व विधायक नरेंद्र मेहता मंच पर उपस्थित थे। पत्रकारों को संबोधित करते हुए बावनकुले ने बताया कि, संपूर्ण महाराष्ट्र में धन्यवाद मोदी जी के स्लोगन के साथ वे लोगों के बीच जा रहे हैं। आनेवाले दिनों में पूरे महाराष्ट्र से लगभग पांच करोड़ लोगों द्वारा ‘धन्यवाद मोदी जी’ वाले संदेश मोदी जी को भेजे जाएंगे!

आनेवाले चुनावों में महाराष्ट्र की 200 से अधिक विधानसभा तथा 45 से अधिक लोकसभा सीट पर ऐतिहासिक जीत हासिल करना उनका संकल्प है और इस संकल्प को पूरा करने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं की एक लंबी फौज उनके साथ कार्यरत है।

राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ पर चुटकी लेते हुए बावनकुले ने कहा कि कांग्रेस के बड़े नेताओं ने राहुल गांधी की यात्रा को हाईजैक कर लिया है। कांग्रेस के पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता तेजी से बीजेपी के खेमे में शामिल हो रहे हैं। महाराष्ट्र की ढाई साल के महा विकास आघाडी सरकार पर प्रहार करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार पूरी तरह से अनाचार, दुराचार और भ्रष्टाचार में डूबी रही। शिंदे–फडणवीस सरकार 2 सालों में 5 साल के बराबर काम कर महाराष्ट्र को विकास के पथ पर ले जायेगी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बावनकुले भले गुटबाजी की बात को नकारते हुए भाजपा एकजुट होने का दावा करते हैं लेकिन पूर्व विधायक नरेंद्र मेहता और उनके खेमे के चालीस से भी ज्यादा नगरसेवक, पूर्व पदाधिकारी जिन्होंने जिलाध्यक्ष रवि व्यास के नेतृत्व नकारते हुए भाजपा के शीर्ष नेतृत्व को चुनौती दी है उनपर कोई ठोस अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की बात पर गोलमाल जवाब देते रहे। इसी बात से फिर एक बार भाजपा के अंदरूनी मतभेद खुलकर सामने आ गए हैं।

अब भाजपा के आलाकमान के सामने एक बड़ी चुनौती होगी कि मीरा भाईंदर शहर में पार्टी के अंदर चल रही गुटबाजी को खत्म करते हुए आगामी मनपा चुनाव जिलाध्यक्ष एड. रवि व्यास के नेतृत्व में ही कराए जाएंगे? या फिर जिलाध्यक्ष को दरकिनार करते हुए पूर्व विधायक नरेंद्र मेहता को चुनाव की कमान सौंपी जाती है।

साथ ही यह भी देखना होगा कि क्या पार्टी में अनुशासनहीनता के लिए नरेंद्र मेहता और उनके गुट के नगरसेवकों पर कोई कार्रवाई की जाती है या नहीं? या फिर चुनाव में पार्टी की कमान ना सौंपे जाने पर नरेंद्र मेहता शीर्ष नेतृत्व के खिलाफ बगावत करते हुए अपना अलग गुट बनाकर भाजपा के ही विरोध में चुनाव लड़कर अपना अस्तित्व साबित करते हैं।

Share it!

Leave a Reply

Your email address will not be published.